happy_navratri____jai_mata_di____design_by_mohit_by_mohitbhagat0786-d5nf5er.jpg


नवरात्री हिन्दू देवी दुर्गा का त्यौहार हैं। यह त्यौहार माँ के नो स्वरुप को पूज के मनाया जाता हैं।
नवरात्री का मतलब हैं "नो रात " इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, शक्ति / देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है।
दसवें दिन विजयादशमी या ” दशहरा ” मनाया जाता है . नवरात्रि एक महत्वपूर्ण प्रमुख त्योहार है और पूरे भारत में महान उत्साह के साथ मनाया जाता है.
महाकाली, महालक्ष्मी व महासरस्वती, देवीके तीन प्रमुख रूप हैं । एक मतानुसार नवरात्रिके पहले तीन दिन तमोगुण कम करने हेतु महाकाली की, अगले तीन दिन रजोगुण बढाने हेतु महालक्ष्मी की व अंतिम तीन दिन साधना तीव्र होने हेतु सत्त्वगुणी महासरस्वती की पूजा करते हैं ।


Maa durga swaroop.jpg Navratri-Festival.jpg
गरबा खेलने’ को ही हिंदू धर्ममें तालियोंके लयबद्ध स्वरमें देवीका भक्तिरसपूर्ण गुणगानात्मक भजन कहते हैं ।
गरबा खेलना, अर्थात् तालियोंकी नादात्मक सगुण उपासनासे श्री दुर्गादेवीको ध्यानसे जागृत कर, उन्हें ब्रह्मांडके लिए कार्य करने हेतु मारक रूप धारण करनेका आवाहन।
नवरात्रिमें श्री दुर्गादेवीका मारक तत्त्व उत्तरोत्तर जागृत होता है । ईश्वरकी तीन प्रमुख कलाएं हैं – ब्रह्मा, विष्णु व महेश ।
इन तीनों कलाओंके स्तरपर देवीका मारक रूप जागृत होने हेतु, तीन बार तालियां बजाकर ब्रह्मांडांतर्गत देवीकी शक्तिरूपी संकल्पशक्ति कार्यरत की जाती है । इसलिए तीन तालियोंकी लयबद्ध हलचलसे देवीका गुणगान करना अधिक इष्ट व फलदायी होता है ।

surat-2.jpg

नवरात्री मेरा सबसे पसन्दीदार त्यौहार हैं. इस त्यौहार में मेरी माताजी पर श्रद्धा और भी बढ़ जाती हैं.
गरबे खेलने में सिर्फ मनोरंजन ही नहीं मगर शक्ति को पूजने और अपने अंदर की शक्ति को पहचानने के लिए भी खेलती हू.
नवरात्री के नो दिन में , मुझे अलग ही महसूस होता हैं, जाने की माँ अम्बे ने अलग शक्ति दी हो.
नवरात्री के समय में नो दिन उपवास रखती हूँ और माँ अम्बे को समरप्रीत कर देती हूँ.


garba .jpggarba 2.jpg






namskar1.jpg




प्रियंका ब्रह्मभट्ट